कोर्ट की फटकार पर 8 महीने बाद दर्ज हुआ था पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह पर केस

देश

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह जिस केस को लेकर मुश्किल में दिखाई दे रहे हैं, वो 16 महीने पुराना है. उनकी मुश्किलें जून 2020 को की गई एक अपमानजनक टिप्पणी की वजह से बढ़ी हैं. युवराज सिंह ने दलित समाज को लेकर अभद्र टिप्पणी कर दी थी, जिस पर हरियाणा पुलिस ने 8 महीने बाद एफआईआर दर्ज की थी. पूर्व भारतीय अॉलराउंडर युवराज सिंह के खिलाफ ये एफआईआर वकील और दलित ह्यूमन राइट्स के संयोजक रजत कलसन की शिकायत पर दर्ज की गई थी।
युवराज सिंह के रसूख के चलते 8 महीने तक इस मामले में पुलिस ने एफआईआर नहीं दर्ज की थी, जबकि जून 2020 अपमानजनक टिप्पणी आने के बाद ही सामाजिक कार्यकर्ता रजत कलसन इसकी शिकायत कर दी थी, लेकिन पुलिस ने कोई केस रजिस्टर नहीं किया. कलसन केस को कोर्ट लेकर गए और कोर्ट ने हरियाणा पुलिस को फटकार लगाते हुए केस दर्ज करने के निर्देश दिए, तब जाकर 8 महीने बाद केस रजिस्टर किया गया.
भारतीय क्रिकेट के सिक्सर किंग के खिलाफ ये एफआईआर हिसार के हांसी शहर थाना में दर्ज हुई है. युवराज पर कई संगीन धाराओं में रपट लिखी गई, जिनमें आईपीसी की (धारा 153, 153 ।, 295, 505 ) के अलावा एससी/एसटीएक्ट की धाराएं भी शामिल हैं।
युवराज सिंह पर लगा है आरोप
बीते साल जून महीने में युवराज के खिलाफ सोशल एक्टिविस्ट रजत कलसन ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी. शिकायतकर्ता ने युवराज सिंह पर आरोप लगाया था कि उन्होंने रोहित शर्मा से लाइव चैट में युजवेंद्र चहल पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इस मामले में नेशनल अलायंस और दलित ह्यूमन राइट्स के संयोजक रजत कलसन ने हांसी पुलिस अधीक्षक को शिकायत दी थी.
पुलिस ने शिकायत में दी गई सीडी की लैब में जांच करवाई थी. लंबी जांच के बाद इसी साल 14 फरवरी को हांसी पुलिस ने युवराज सिंह एक्ट सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया था. जिसके बाद युवराज सिंह ने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दर्ज की थी. जिसके बाद कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी थी और जांच में शामिल होने के आदेश दिए थे.
क्या हुआ था उस लाइव चैट में ?
भारत के 2011 वर्ल्ड कप के हीरो पर जिस बात को लेकर थ्प्त् हुआ है वो मामला पिछले साल जून महीने में उनकी टीम इंडिया के मौजूदा ओपनर रोहित शर्मा के साथ हुई इंस्टाग्राम लाइव चैट से जुड़ा है. युवराज पर आरोप है कि उन्होंने इस चैट के दौरान जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया था.
रोहित से चैट करते हुए युवराज बोलते हैं कि कुलदीप भी अॉनलाइन आ गया. उधर से रोहित शर्मा बोलते हैं कि कुलदीप अॉनलाइन हैं, ये सब अॉनलाइन हैं, ये सब ऐसे ही बैठे हुए हैं  इतने में युवी बोलते हैं कि ये भंगी लोगों को कोई काम नहीं है युजी को. बस यहीं से सारा बखेड़ा खड़ा हुआ है. तब युजी यानी युजवेंद्र चहल को जातिसूचत शब्द कहे जाने से युवराज सिंह को लोगों की नाराजगी झेलनी पड़ी थी. इतना ही नहीं ट्विटर पर युवराज सिंहऋमाफी मांगो टॉप ट्रेंड में रहा. हालांकि, बाद में युवराज सिंह ने इस पर माफी भी मांगी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *